गर्भवात के दौरान विटामिन और कैल्शियम का महत्त्व

गर्भवात के दौरान विटामिन और कैल्शियम का महत्त्व

गर्भवात के दौरान माँ के शरीर में क्या होता है? 

गर्भवात के दौरान माँ का शरीर कई चरणों और बदलावों से गुज़रता है जिसमे से कुछ बदलाव शारीरिक तौर पर आसानी से देखे जा सकते है जैसे कि वज़न बढ़ना, पेट का फूलना, सुबह उठते वक़्त कमर में दर्द होना और बुखार महसूस होना।

गर्भवात के दौरान माँ के स्तनों के अकार में भी कई बार बदलाव आता है।

इसके साथ ही गर्भवात के दौरान मसूड़ों से खून आने की शिकायत आम होती है और महिलायें अक्सर गर्भवात में डेंटिस्ट (dentist) के पास जाने से डरती है जब कि डेंटिस्ट के पास जाने से बच्चे की सेहत को कोई खतरा नहीं होता।

अगर आपका डेंटिस्ट आपको x-ray की सलाह देता है तो आप वो भी करवा सकते है पर उसके लिए आपको अपने पेट को रेडिएशन (radiation) से बचाने के लिए अच्छे से कवर (cover) करना होता है।

गर्भवात के दौरान माँ के बाल और स्वस्थ होने लगते है क्योंकि उस वक़्त शरीर में सबसे ज़्यादा एस्ट्रोजन हॉर्मोन (estrogen hormone) बनता है और ऐसे वक़्त पर कुछ महिलाओं के शरीर पर बाल बढ़ने की परेशानी अमूमन सामने आ जाती है।

पर बच्चे के जन्म होने के 5 से 6 महीने बाद माँ के हॉर्मोन का स्तर दोबारा से साधारण हो जाता है और बालों के लगातार बढ़ते रहने की समस्या अपने आप समाप्त हो जाती है।

शरीर में विटामिन्स और कैल्शियम का महत्त्व 

हमारे शरीर में विटामिन्स और कैल्शियम बेहद ज़रूरी है विटामिन्स हमारे शरीर के सही से काम करने में और कैल्शियम हड्डियों और दाँतो को मज़बूत बनाये रखने में मदद करता है।

विटामिन्स और कैल्शियम हमारे शरीर में ये मदद करते है:

  • आँखों की रौशनी बढ़ाना 
  • त्वचा को स्वस्थ रखना 
  • दांतो को मज़बूत रखना 
  • शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना
  • खून का संचार सही रखना 
  • बालों को मज़बूत करना और उनमे निखार लाना 
  • हड्डियों को मज़बूत करना 
  • पाचन क्रिया बेहतर करना 

गर्भवात के बाद आने वाली कमज़ोरी को पूरा करने का तरीका  

बच्चे को जन्म देने के बाद माँ के शरीर में कमज़ोरी आ जाती है जिसे आहार के ज़रिये पूरा किया जा सकता है पर सही समय पर सही आहार लेना आजकल की दिनचर्या के मुताबिक़ मुश्किल हो जाता है।

गर्भवात के बाद अक्सर महिलाओं में कमज़ोरी और बिमारियों की शिकायत बढ़ जाती है। इसलिए इन सभी समस्यायों के बाद अक्सर महिलाओं को मल्टीविटामिन लेने की सलाह दी जाती है जो इन कमज़ोरियों को पूरा करने में सहायक होती है

जैसा कि हमारी दिनचर्या में धुप में निकलना ना के बराबर हो गया है जिसके चलते हमारे शरीर में विटामिन D की कमी बढ़ती चली जाती है इसलिए उसे पूरा करने के लिए सप्लीमेंट (supplement) लिया जा सकता है।

अगर आप विटामिन D का सप्लीमेंट लेना चाहते है तो आप Big Nano D3 के लिए जा सकते है अगर आपको नहीं पता तो आप पढ़ सकते है कि Big Nano D3 क्या है और इसके क्या फायदे है